14 सितंबर से संसद का मानसून सत्र: कोविड-19 को देखते हुए कार्यवाही में बदलाव, नहीं होगा प्रश्नकाल

संसद का मानसून सत्र 14 सितंबर से शुरू होने जा रहा है

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Covid-19) के संकट को देखते हुए लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही में कुछ बदलाव किए गए हैं, बदलावों के अनुसार मानसून सत्र (Monsoon Session) में प्रश्नकाल नहीं होगा लेकिन शून्य काल रहेगा. बता दें कि संसद का मानसून सत्र 14 सितंबर से शुरू होने जा रहा है. लोक सभा (Lok Sabha) पहले दिन सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक बैठेगी. बाकी दिन दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक बैठक होगी. प्राइवेट मेंबर बिजनेस नहीं होगा. इसी तरह राज्य सभा (Rajya Sabha) पहले दिन यानी 14 सितंबर को दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक बैठेगी लेकिन बाकी दिन सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक ही बैठेगी. शनिवार और रविवार छुट्टी नहीं होगी. 14 सितंबर से एक अक्टूबर तक कुल 18 बैठकें होंगी. 

यह भी पढ़ें

यह भी पढ़ें: कोरोना से पीड़ित हैं या नहीं 15 मिनट में चलेगा पता, स्विस फार्मा कंपनी जल्द पेश करेगी COVID टेस्ट 

बताते चलें कि संसद के मानसून सत्र से पहले राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने सांसदों के स्वास्थ्य की सुरक्षा सुनिश्चित करने के मुद्दे पर भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक और केंद्रीय गृह, स्वास्थ्य तथा अनुसंधान विभागों के सचिवों संग बैठक की थी. नायडू ने इस दौरान कई मुद्दे उठाए और राज्यसभा सदस्यों की स्वास्थ्य सुरक्षा तथा निर्बाध यात्रा को लेकर स्पष्टीकरण मांगा था. 

यह भी पढ़ें: मॉनसून सत्र शुरू होने के 72 घंटे पहले सांसदों को कराना होगा कोरोना टेस्‍ट: लोकसभा स्‍पीकर

कोविड-19 दिशा-निर्देशों के तहत दोनों सदन की अलग-अलग बैठक करने का फैसला किया गया है. अधिकारियों ने कहा था कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर इस बार आयोजित होने वाले सत्र के लिए कई तैयारियां पहली बार की जा रही हैं जैसे कि सभी सासंदों की जांच की जाएगी और सामाजिक दूरी के नियमों के अनुपालन में लोकसभा और राज्यसभा की बैठकें अलग-अलग होंगी ताकि सभी चैंबरों और गैलरी का इस्तेमाल सदस्यों के बैठने के लिए किया जा सके. 

इनपुट एजेंसी से भी

Video: 14 सितंबर से शुरू हो रहा है मॉनसून सत्र, सांसदों का होगा कोरोना टेस्ट



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *